अल्लीपुर महाविद्यालय ने  लगातार 10 सालो से  बी.एड. के  सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होकर स्थापित किया नया कीर्तिमान 

अल्लीपुर महाविद्यालय ने  लगातार 10 सालो से  बी.एड. के  सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होकर स्थापित किया नया कीर्तिमान 

Sep 30, 2023 - 12:33
 0  14
अल्लीपुर महाविद्यालय ने  लगातार 10 सालो से  बी.एड. के  सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होकर स्थापित किया नया कीर्तिमान 
अल्लीपुर महाविद्यालय ने  लगातार 10 सालो से  बी.एड. के  सभी विद्यार्थी प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होकर स्थापित किया नया कीर्तिमान 

आर एल पाण्डेय

हरदोई। डाॅ.राम मनोहर लोहिया स्नातकोत्तर महाविद्यालय ,अल्लीपुर, हरदोई के निदेशक डाॅ.शीर्षेन्दु शील"विपिन " ने प्रेसवार्ता मे बताया कि महाविद्यालय कानपुर विश्वविद्यालय मे लगातार नौ वर्षे सभी प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होते रहने के बाद अब लखनऊ विश्वविद्यालय सम्बद्ध हो जाने पर अपने  बी.एड.संकाय के परीक्षा परिणाम के सभी बच्चे प्रथम श्रेणी मे उत्तीर्ण होकर अपने  रिकॉर्ड को लगातार 10 वर्षो आगे बढ़ाकर सभी 70 प्रतिशत से अधिक अंको से उत्तीर्ण कर नया इतिहास लिखा है । 

महाविद्यालय के 97 विद्यार्थी बी.एड. की परीक्षा में सम्मलित हुये थे जिसमें से 57 बच्चो ने 80 प्रतिशत से अधिक,  35 बच्चो ने 75 प्रतिशत से अधिक और 4 बच्चो ने 71 प्रतिशत अंको से अधिक अंक प्राप्त कर जनपद को गौरव करने का यह अवसर प्रदान किया है। फाल्गुनी अग्निहोत्री ने 84.5 प्रतिशत   अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान , ओनमोल सिंह व रूचि सिंह ने 84 प्रतिशत अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान , अंकिता पाण्डेय तथा अश्वनी देवी ने 83.5 ने तृतीय स्थान, अलका यादव, आंशिका सिह, व अराधना दुबा ने 83 प्रतिशत अंको के साथ चतुर्थ स्थान तथा 82.5 प्रतिशत अंको के साथ सुप्रिया मिश्रा,रूपिका त्रिपाठी, उन्नति तिवारी तथा वैष्णवी मिश्रा ने पंचम स्थान प्राप्त किया है ।

महाविद्यालय विगत सत्रो मे बी.एड. के उत्तीर्ण विद्यार्थियो मे 73.6 प्रतिशत विद्यार्थियो ने बेसिक शिक्षा परिषद के प्राइमरी व जूनियर स्कूलों मे तथा माध्यमिक शिक्षा परिषद के इण्टर कालेज मे चयनित होकर जनपद का सर्वाधिक नौकरी दिलाने वाला महाविद्यालय होने का भी रिकॉर्ड बनाया है । महाविद्यालय निदेशक डाॅ. त्रिवेदी ने कहा अल्लीपुर महाविद्यालय मे राष्ट्रवादी,सर्वोहितकारी। समाजोपयोगी,रोजयुक्त और बच्चों के सर्वांगीण विकास करने मे हर प्रकार से सक्षम और समर्थ शिक्षकों का निर्माण करने के लक्ष्य को हम पूर्ण कर रहे है।

शिक्षा ही मानव का सच्चा आभूषण है जिसे शिक्षक अपनी  योग्यता और अनुभव से शिक्षार्थी के जीवन को आभूषित करता है। शिक्षक के कृतित्व का परिणाम शौर्यावन यशस्वी शिष्य के रूप मे समाज को सूर्य की भाॅति प्रकाशित कर पाता है । जिसके महाविद्यालय शिक्षण-प्रशिक्षण के साथ-साथ हरिद्वार, वृन्दावन, आगरा,कोलकात्ता आदि स्थानो का शैक्षिक भ्रमण का आयोजन कर वास्तविक ज्ञान से परिचित कराता है । वही समय-समय पर सेमिनार, गोष्ठियों, कार्यशालाओं,सम्मेलन का आयोजन कर कार्यसृजन सिखाता है। निबन्ध, पोस्टर,रंगोली,वाद विवाद आदि प्रतियोगिताओ का आयोजन कर मानसिक क्षमता का विकास करता है। साथ शारीरिक विकास के लिये क्रिकेट, बैडमिंटन, कबड्डी,खो-खो आदि खेलकूद प्रतियोगिताओ के आयोजन कर पुष्टि प्रदान करता है। विगत समय मे महाविद्यालय की क्रिकेट टीम,खो-खो टीम विश्वविद्यालय की अन्तर्महाविद्यालीय प्रतियोगिताओ मे विजेता होकर जनपद एक मात्र महाविद्यालय होने गौरव प्राप्त किया है ।

मातृ संस्था सार्वजनिक शिक्षोन्नयन संस्थान के संस्थापक प्रबन्धक डाॅ.सुशील चन्द्र त्रिवेदी"मधुपेश" ने इस सफलता के लिये महाविद्यालय के शिक्षक डाॅ. शशिकांत पाण्डेय, आनन्द विशारद,  मुकेश कुमार आदि के कुशल मार्गदर्शन और विद्यार्थियो के कठिन परिश्रम से अर्जित इस सफलता के लिये सभी शुभकामनाये दी ।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow