अकबरपुर लोकसभा सीट से देवेंद्र सिंह भोले बने तीसरी बार प्रत्याशी... सपा-बीजेपी के बीच टक्कर

मार्च 3, 2024 - 19:42
 0  38
अकबरपुर लोकसभा सीट से देवेंद्र सिंह भोले बने तीसरी बार प्रत्याशी... सपा-बीजेपी के बीच टक्कर
अकबरपुर लोकसभा सीट से देवेंद्र सिंह भोले बने तीसरी बार प्रत्याशी... सपा-बीजेपी के बीच टक्कर

 मोहित पांडेय

कानपुर  - बीजेपी ने कानपुर देहात की अकबरपुर लोकसभा सीट देवेंद्र सिंह भोले को प्रत्याशी बनाया हैं। भोले बीते एक दशक से अकबरपुर से सांसद हैं। उनकी क्षेत्र में मजबूत पकड़ है। जबकि अकबरपुर से बीजेपी के कई दिग्गज नेता टिकट की मांग कर रहे थे।

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर पर बीजेपी ने शनिवार को 195 प्रत्याशियों के नामों का एलान कर दिया है। जिसमें कानपुर देहात की अकबरपुर लोकसभा सीट से बीजेपी ने देवेंद्र सिंह भोले पर तीसरी बार भरोसा जताया है। देवेंद्र सिंह भाले ने लोकसभा चुनाव 2014 और 2019 में शानदार जीत दर्ज की थी। लोकसभा चुनाव 2024 में देवेंद्र सिंह भोले के साथ बिठूर विधानसभा से विधायक अभिजीत सिंह सांगा समेत कई दिग्गज अकबरपुर सीट पर दावा ठोंक रहे थे। लेकिन बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति ने देवेंद्र सिंह भोले को एक बार फिर से मौका दिया है।

कानपुर देहात आबादी और क्षेत्रफल के हिसाब काफी जिला है। जिले में क्षत्रीय, ओबीसी, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और समान्य वोटरों की सख्यां सर्वाधिक है। अकबरपुर संसदीय क्षेत्र बीएसपी का माना जाता है। इस सीट पर सबसे अधिक ग्रामीण क्षेत्र आते हैं। लोकसभा चुनाव 2004 में बसपा ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद लोकसभा चुनाव 2009 में कांग्रेस के राजाराम पाल सांसद बने थे। इसके बाद लोकसभा चुनाव 2014 और 2019 में बीजेपी के देवेंद्र सिंह भोले लगातार कमल खिला रहे हैं। बीजेपी ने सांसद देवेंद्र सिंह भोले को तीसरी बार प्रत्याशी बनाया है।

कानपुर देहात की एक नगर की चार विधानसभा सीटें आती हैं

कानपुर देहात की अकबरपुर लोकसभा सीट में पांच विधानसभा सीटें आती हैं। जिसमें रनियां विधानसभा सीट, कानपुर नगर की घाटमपुर विधानसभा सीट, महाराजपुर विधानसभा सीट, कल्यानपुर विधानसभा सीट और बिठूर विधानसभा शामिल हैं। इसके साथ ही बिल्हौर विधानसभा सीट का कुछ हिस्सा अकबपुर और कुछ हिस्सा मिश्रिख लोकसभा सीट में आता है।

पांचों सीटों पर हैं एनडीए गठबंधन के विधायक

घाटमपुर विधानसभा सीट से अपना दल (एस) की सरोज कुरील विधायक हैं। महाराजपुर विधानसभा सीट से विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना विधायक हैं। रनियां विधानसभा सीट से मंत्री प्रतिभा शुक्ला विधायक हैं। 

मूलभूत समस्याएं

अकबरपुर लोकसभा सीट में आने वाला क्षेत्र आज भी नाली-खंडजा, सड़क, पानी, बेराजगारी और किसानों समस्याओं से जुझ रहा है। यूपीए के कार्यकाल में शुरू हुआ 1980 मेगावाट का नवेली पावर प्लांट अभी भी बनकर तैयार नहीं हो पाया है। इसके साथ ही कानपुर और कानपुर देहात वासियों को नए एयरपोर्ट टर्मिनल की सौगात जरूर मिल गई है। कानपुर में रिंगरोड का निमार्ण कराया जा रहा है। इसके साथ ही डिफेंस कॉरीडोर का उद्घाटन हो गया है।

सपा-बीजेपी की लड़ाई

लोकसभा चुनाव 2024 में यूपी में इंडिया गठबंधन और एनडीए के बीच सीधी लड़ाई है। इंडिया गठबंधन की तरफ से कानपुर देहात की अकबरपुर लोकसभा सीट सपा के खाते में गई है। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने अकबरपुर लोकसभा सीट से पूर्व सांसद राजाराम पाल को प्रत्याशी बनाया है। बसपा अकबरपुर लोकसभा सीट के लिए प्रभावशाली चेहरे की तलाश कर रही है।

लोकसभा 2019 का चुनावी परिणाम

लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी के देवेंद्र सिंह भोले ने बीएसपी की निशा सचान को 1,61,889 वोटों से हराया था। बीजेपी के देवेंद्र सिंह भोले को 5,77,603 वोट मिले थे। बीएसपी की निशा सचान को 3,04,553 वोट मिले थे। वहीं कांग्रेस के राजाराम पाल को 1,07,592 वोट मिले थे। लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी प्रत्याशी और सपा के राजाराम पाल के बीच सीधी टक्कर देखने को मिलेगी। राजाराम पाल कांग्रेस छोड़कर सपा में शामिल हो गए थे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow