भारत की आर्थिक सहायता से काठमांडू में निर्मित गर्ल्स हॉस्टल का उद्घाटन

काठमांडू। भारत सरकार की वित्तीय सहायता से काठमांडू के दिल्लीबाजार में स्थित श्री पद्मकन्या माध्यमिक विद्यालय में निर्मित मंगला देवी सिंह मेमोरियल गर्ल्स हॉस्टल भवन का उद्घाटन किया गया। 

मई 29, 2024 - 21:08
 0  11
भारत की आर्थिक सहायता से काठमांडू में निर्मित गर्ल्स हॉस्टल का उद्घाटन
भारत की आर्थिक सहायता से काठमांडू में निर्मित गर्ल्स हॉस्टल का उद्घाटन


काठमांडू स्थित भारतीय उच्चायोग के एक बयान के अनुसार छात्रावास का निर्माण नेपाल-भारत विकास सहयोग के तहत 3.23 करोड़ नेपाली रुपये की कुल परियोजना लागत से किया गया है। इसका उद्घाटन सोमवार को काठमांडू में भारतीय दूतावास के प्रथम सचिव अविनाश कुमार सिंह और काठमांडू के जिला समन्वय समिति के प्रमुख संतोष बुधाथोकी ने संयुक्त रूप से किया।

दूतावास ने कहा भारत सरकार के अनुदान का उपयोग पद्मकन्या माध्यमिक विद्यालय के मंगला देवी सिंह मेमोरियल गर्ल्स हॉस्टल में 39 कमरों और रसोई, डाइनिंग हॉल, स्टोर रूम, वार्डन रूम, गार्ड रूम, विजिटर रूम, ऑफिस रूम, लाइब्रेरी, मल्टीपर्पस हॉल, प्रतीक्षा क्षेत्र (वेटिंग एरिया), ग्रीन रूम, लॉन्ड्री, शौचालय, स्नानघर, सौर बैकअप प्रणाली सहित अन्य सुविधाओं वाले चार मंजिला छात्रावास भवन के निर्माण के लिए किया गया है।

इस परियोजना को भारत और नेपाल सरकार के बीच उच्च प्रभाव वाली सामुदायिक विकास परियोजनाओं पर हुए समझौते के तहत उच्च प्रभाव सामुदायिक विकास परियोजना (एचआईसीडीपी) के रूप में शुरू किया गया था। वर्ष 2003 से भारत सरकार ने नेपाल में विभिन्न क्षेत्रों में 551 से अधिक एचआईसीडीपी शुरू की हैं और इनमें से 490 परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं। कार्यक्रम के दौरान जिला समन्वय समिति के प्रमुख और स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष ने नेपाल के शिक्षा क्षेत्र में भारत सरकार के निरंतर सहयोग की सराहना की।

भारत अपनी ‘पड़ोसी प्रथम’ नीति के तहत शिक्षा एवं स्वास्थ्य सहित नेपाल के विभिन्न क्षेत्रों में आधारभूत बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में पड़ोसी देश का लगातार सहयोग कर रहा है। पिछले सप्ताह भारत के आर्थिक सहयोग से नेपाल के डांग जिले में दो स्कूल भवनों का उद्घाटन किया गया था। इसके साथ ही हाल ही में भारत सरकार ने नेपाल के विभिन्न अस्पतालों और शैक्षणिक संस्थानों को 1009 एम्बुलेंस और 300 स्कूल बसें उपहार में दी हैं।
(रिपोर्ट. शाश्वत तिवारी)

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow