‘अंकित ग्राम’, सेवाधाम आश्रम में बाबा विनोबा भावे की 128वीं जयंती पर्व पर याद कर सर्वधर्म प्रार्थना सभा के साथ 3 बेघर-बेसहारा जरूरतंद, निराश्रित और दिव्यांग बहनो को अपनाया

बाबा विनोबा भावे के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं सूतांजलि अर्पित कर 128वीं जयंती मनाई गई

Sep 12, 2023 - 13:24
 0  14
‘अंकित ग्राम’, सेवाधाम आश्रम में बाबा विनोबा भावे की 128वीं जयंती पर्व पर याद कर सर्वधर्म प्रार्थना सभा के साथ 3 बेघर-बेसहारा जरूरतंद, निराश्रित और दिव्यांग बहनो को अपनाया
‘अंकित ग्राम’, सेवाधाम आश्रम में बाबा विनोबा भावे की 128वीं जयंती पर्व पर याद कर सर्वधर्म प्रार्थना सभा के साथ 3 बेघर-बेसहारा जरूरतंद, निराश्रित और दिव्यांग बहनो को अपनाया

आर एल पाण्डेय

उज्जैन। ‘अंकित ग्राम’ सेवाधाम आश्रम में सत्यवती महिला प्रकल्प में सेवाधाम आश्रम संस्थापक सुधीर भाई गोयल, श्रीमती कांता भाभी एवं हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई धर्म का प्रतिनिधित्व करने वाली आश्रम परिवार की बहनों के साथ बाबा विनोबा भावे के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं सूतांजलि अर्पित कर 128वीं जयंती मनाई गई।

इस अवसर पर सर्वधर्म प्रार्थना, गौ सेवा के साथ भोपाल के घरोैंदा की तीन बेघर-बेसहारा, जरूरतंद निराश्रित और दिव्यांग बहनों का आश्रम परम्परानुसार मंगलतिलक, माला एवं मिष्ठान्न खिलाकर प्रवेश दिया। इस अवसर पर भाईजी ने महात्मा गांधी के अप्रतिम शिष्य और भूदान आंदोलन के प्रणेता आचार्य विनोबा भावे के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका जीवन प्रत्येक व्यक्ति के लिए सेवा-श्रम और कर्म की प्रेरणा देता है वे अपने लक्ष्य के प्रति दृढ़ संकल्पित थे उन्होंने स्वतंत्रता मिलने के बाद निर्धन भूमिहीनो के लिए भूदान यज्ञ के माध्यम से अविस्मरणीय कार्य किया। बाबा विनोबा ने आजीवन अपने दोनों भाईयों के साथ ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए माता-पिता के साथ राष्ट्र को गौरवान्वित किया। सुधीर भाई ने ब्रह्म विद्या मंदिर, पवनार एवं सुघड़ पर्यावरणीय संस्थान अहमदाबाद के कार्यक्रमों का जिक्र भी किया।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow