#ElectionsResults - सहानुभूति.... सहानुभूति.... सहानुभूति....खुदा खैर करे

#ElectionsResults

जून 3, 2024 - 15:43
जून 3, 2024 - 15:45
 0  11
#ElectionsResults - सहानुभूति.... सहानुभूति.... सहानुभूति....खुदा खैर करे

#ElectionsResults

18वीं लोकसभा के चुनाव लगभग संपन्न हो चुके हैं अब केवल चुनाव परिणाम घोषित होना रह गया है हवाओं व आम जनता का रुख देखते हुए आकाशीय टीवी चैनलों एवं समाचार पत्रों की विश्लेषकों के अनुसार हम यह जोखिम उठाने के लिए तैयार हैं एक बार फिर से मोदी सरकार आ रही है इसलिए प्रधानमंत्री मोदी के कट्टर विरोधी के प्रति चिंता उत्पन्न हो रही है उनके प्रति सहानुभूति जाग रही है उसमें 10 साल से राजनीतिक सुख के कारण अधिकतर मोदी विरोधी कार्यकर्ताओं का भविष्य अंधकार में हो गया है

कुछ राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने राजनीति को भी बाय-बाय कर दिया था।और नया धंधा शुरू कर दिया था यही हाल वामपंथी विचार को का भी है क्योंकि उन्हें धर्मनिरपेक्षता का लबादा होने की एवेज में मिलने वाला खटपट सूखने लगा था 18वीं लोकसभा के चुनाव के समय कुछ उम्मीद बनी हुई थी वह भी मतदाताओं के रुख से खत्म सी हो गई अगले 5 वर्ष तक उन्हें अपनी विचारधारा के साथ खड़ा होना नामुमकिन सा लगता है ऐसा ही हाल मुसलमान का है जो मोदी व भाजपा के कट्टर विरोधी हैं उनको इस चुनाव से एक उम्मीद बनी थी लेकिन उसे पर भी पानी पिता दिख रहा है अफसोस पहलू यह है कि उनके पैरों कार्य में कोई भी दल खड़ा होने के लिए तैयार नहीं है राजनीतिक दलों एवं उनके समर्थक बुद्धिजीवियों ने मोदी सरकार व उनके बीच की खाई इतनी बढ़ा दी है कि वह अपने भाभी भविष्य को लेकर चिंतित है।

हमारी इन आशंकाओं को मोदी विरोधी दरकिनार कर दे वह लाल ठोकर कहीं की उनकी विचारधारा तथा मोदी विरोध किस वर्ष चुनाव परिणाम की हरजी से प्रभावित होने वाली नहीं है मोदी एवं भाजपा से उनके वैचारिक विरोध का उम्र तक जारी रहेगा लेकिन वास्तविकता इसके जस्ट उलट है उलट है 2014 से लेकर अब तक मोदी के विरोध के नाम पर कई दुकानें खुली और उजड़ गई। अब आजादी के पूर्व वाले स्वतंत्रता सेनानी ना रहे और ना ही कांग्रेस राजनीतिक दल की सेवा दल कार्य करता रहे वामपंथी एवं धर्मनिरपेक्ष दलों के कार्यकर्ताओंका भी यही हाल है वह राजनीतिक दल में अवसर के लिए प्रवेश करते हैं।

अखिल सावंत

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow